क्या हैं म्यूच्यूअल फंड और आप कैसे इसमें कर सकते हैं निवेश

एक बात तो निश्चित हैं – हम सबको अपनी आमदनी का एक हिस्सा निवेश करना चाहिए | लेकिन उससे भी ज़रूरी हैं यह समझना के हम अपने म्हणत की कमाई को कहाँ और कैसे निवेश करे | इसलिए पैसे निवेश करने से पहले ज़रूरी हैं के हम एक इन्वैस्टमैंट प्लान बनाये और उसी के तहत एक एक कर मार्किट में मौजूद जीतने भी म्यूच्यूअल फण्ड हैं उन्हें समझे | आपने तो म्यूच्यूअल फंड का नाम सुना ही होगा | चलिए आज इस इन्वैस्टमैंट स्कीम की विस्तार में चर्चा करते हैं |

क्या हैं म्यूच्यूअल फंड

अगर आप अपना पैसा म्यूच्फंड्स में निवेश करना चाहते हैं तो यह समझ ले के इसे समझना बहुत  ही आसान हैं| यदि आप म्यूच्यूअल फंड में निवेश करना चाहते हैं, तो यह जान ले की यहाँ  इन्वेस्ट करने के लिए आपको बहुत बड़ी राशि निवेश नहीं करनी पढ़ती हैं| क्यों की यहाँ म्यूच्यूअल फंड की कम्पनियाँ आप जैसे अनेक निवेशकों के पैसा जुटाने हैं और फिर उसे अलग अलग कंपनियों की शेयर में लगाते हैं | और यह पैसे जो अलग अलग जगह निवेश किया जाता हैं, उससे आपको मुनाफ़ा मिलता हैं |

किसके लिए हैं म्यूच्यूअल फंड ?

यह उन लोगो के लिए एकदम ठीक हैं, जो शेयर बाजार की दाँव पेच नहीं जानते हैं या उनके पास उतना पैसा  नहीं हैं की वह कंपनियों के शेयर खरीदे| म्यूच्यूअल फंड उन लोगो के लिए भी सही हैं जिनके पास ज़्यादा समय नहीं होता हैं या इन्वैस्टमैंट की ज़्यादा जानकारी जुगाड़ ने के लिए |

 क्यों की म्यूच्यूअल फंड कंपनी फ़ाइनेंशियल ऐक्सपर्ट को रखते हैं जो पूरी छान बिन के बाद इन्वेस्टर्स के पैसे सही जगा लगते हैं | और इस का फ़ायदा सभी निवेश कर्ता को होती हैं |

म्यूच्यूअल फंड में निवेश करने का तरीक़ा

म्यूच्यूअल फंड में आप निवेश दो तरह से कर सकते हैं| मतलब की आप या तो एक बार में अपनी जमा बचत राशि से म्यूच्यूअल फंड यूनिट खरीद ले अन्य था आप हर माह एक निश्चित राशि म्यूच्यूअल फंड अकाउंट में लगा दे | इस दूसरे प्रतिक्रिया को सिस्टेमेटिक इन्वैस्टमैंट प्लान या एसआईपी कहते हैं |  यह एक सरल और अधिक प्रचलित तरीका हैं अपने पैसा में वृद्धि करने के लिए |

म्यूच्यूअल फंड के प्रकार

म्यूच्यूअल फंड स्कीम कई प्रकार के होते हैं  जैसे की ओपन एंड फंड, क्लोज एंड फंड और इंटरवल फंड|

ओपन एंड फंड – अगर आप इस म्यूच्यूअल फंड में निवेश करना चाहते है तो आप यह समझ ले की म्यूच्यूअल फंड इस स्कीम के अंतर्गत कभी भी खरीद या बेच सकते है| यहाँ कोई फ़िक्स डेट भी नहीं दी होती है पैसे निकाल ने के लिए| इस कारण आपका निवेश किया हुआ पैसा तरल नगदी के तरह रहता है| इस प्लान को ओपन एंडेड इस लिए कहा जाता  है क्यों की यहाँ निवेशक के लिए इस म्यूच्यूअल फण्ड प्लान को खरीद ने और बेच ने के लिए कोई निश्चित समय नहीं होता है|

  • डेब्ट म्यूच्यूअल फंड – यह स्कीम उन निवेशक के लिए उत्तम है जो पैसे कम अवधि  लिए निवेश करना चाहते है| यहाँ आपके पैसे डेब्ट सिक्योरिटीज में निवेश होते है और रिस्क फैक्टर शेयर में निवेश करने से काफी कम है|
  • इक्विटी म्यूच्यूअल फंड – इस स्कीम में आपके पैसे सीधे शेयर में निवेश किया जाता है| छोटी अवधि में ये स्कीम जोखिम भरा हो सकता है परन्तु लम्बीअवधि में इस  से रिटर्न अच्छी मिल सकती हैं |
  • हयबदरिद म्यूच्यूअल फंड – यहाँ आपके पैसे दोनों – इक्विटी एवं डेब्ट म्यूच्यूअल फंड में निवेश किया जा सकता है|
  • सलूशनओरिएंटेडम्यूच्यूअल फंड – यह स्कीम किसी लक्ष्य या समाधान के अनुसार बनी होती है – जैसे रिटायरमेंट या बच्चों की  शिक्षा जैसे लक्ष्य हो सकते हैं|

क्लोज एंड फंड – याद रखियेगा की इस फंड में निवेश  पैसे आप बैंक या म्यूच्यूअल फंड कंपनी के द्वारा निश्चित तिथि पे निकाल सकते है | अधिकतर इस फंड में निवेश किये हुए पैसों को तीन से छह साल के लिए निवेश किया जाता है | और हाँ, आप पैसा एक निर्धारित समय (न्यू फंड ऑफर) पे ही निवेश सकते हैं|

ऑफर क्लोज होने के बाद इस म्यूच्यूअल फण्ड प्लान में और कोई नहीं निवेश कर सकता है| इस प्रकार के फंड को  लिस्टिंग के लिए भेजे जाते है और अगर ये लिस्टेड होजाये तो आप इन्हे  कभी भी खरीद-बेच सकते है|

इंटरवल फंड –  इस प्रकार के फंड – ओपन और क्लोज्ड म्यूच्यूअल फंड की मिले-जुले फाईदो के साथ आते हैं|

अगर आपको अपने निवेश किये हुए पैसों में अच्छी वृद्धि चाहिए तो म्यूच्यूअल फंड में निवेश करना सही रहेगा| लेकिन ध्यान रहे क्यों की यहा रिटर्न का सीधा लिंक बिज़नेस से है तो यहाँ थोड़ी रिस्क भी है| लेकिन अगर आप अच्छे म्यूच्यूअल फंड कम्पनी के माध्यम से पैसे निवेश करेंगे तो आप का रिस्क फैक्टर कम रहेगा| क्यों की इनके एक्सपर्ट आपके पैसे उन बिज़नेस कंपनी में निवेश करेंगे जिनका नाम मार्किट में अच्छा है|

यहाँ समझना ज़रूरी है की फ़िक्स डिपाजिट की तरह यहाँ आप को एक मोटी  राशि प्राप्त होने का आश्वाषण नहीं मिलता हैं | यहाँ आपके निवेश किये हुए कंपनी जितना मुनाफ़ा करेगी उतना ही आप आप के निवेश किये हुए पैसे में वृद्धि होगी|

डिस्क्लेमर : म्यूच्यूअल फंड निवेस बाज़ार के जोखमों  के अधीन है | निवेश करने से पहले पड़ताल करले और अपने फाइनेंसियल अद्विसेर से सलाह लेकर निवेश करें |

-टाटा म्यूचुअल फंड द्वारा लिखित सामग्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here